SSC Max

Educational Website

Jaat Reservation Protest Demands & Posture of Government

जाट आरक्षण आन्दोलन की शुरुआत अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के अध्यक्ष यशपाल मलिक ने 29 जनवरी से हरियाणा प्रदेश के 19 जिलो में शांतिपूर्ण धरनों से हुई थी। आज 16 फरवरी को आरक्षण आन्दोलन का 19वा दिन हो गया है और धरने आज भी जारी है और दिन प्रतिदिन भीड़ बढ़ती जा रही है । जाट नेता यशपाल मलिक ने एलान किया है कि 19 तारीख को शहीदी दिवस मनाने के बाद आरक्षण आन्दोलन को ओर तेज कर दिया जाएगा और इसी संदर्भ में कल यानी 17 फरवरी को रोहतक के जसिया गाँव में अहम् बैठक होने जा रही है । आन्दोलन मुख्य रूप से इक्कस (जींद), सोनीपत, जसिया,झज्जर आदि कई जगहों पर चल रहा है जिसमे महिलाएं और युवाओं के साथ-साथ 36 बिरादरी के लोग समर्थन दे रहे है। पिछली बातो पर ध्यान दिया जाए तो फरवरी 2016 में आन्दोलन उग्र हो गया था और 30 व्यक्ति पुलिस कार्यवाही में मारे गए थे और उन्ही की याद में 19 तारीख को शहीदी दिवस मनाने का एलान किया हुआ है ।

जाट प्रदर्शनकारियों की मुख्य मांगे :- 

(1) पिछले साल मारे गए लोगो के परिजनों को उचित मुआवजे के साथ-साथ परिवार के एक सदस्य को नौकरी दी जाए ।

(2) जाट आरक्षण को हरियाणा में तामिलनाडू की तर्ज पर सविंधान की नोंवी सूची में डाला जाए ।

(3) काफी समय से जाति विशेष के बारे में बयान देने वाले बीजेपी सांसद राजकुमार सैनी पर कार्यवाही की जाए ।

इसी संदर्भ में थोड़े दिन पहले जाट प्रतिनिधि मंडल और सरकार के बीच पानीपत (हरियाणा) में बातचीत हुई लेकिन इस बातचीत का कोई परिणाम नही निकल सका । अब बीजेपी सरकार पिछली साल हुए आन्दोलन से सबक ले आगे फूंक-फूंक के कदम रख रही है इसलिए सरकार ने केंद्र सरकार से अर्द्धसैनिक बलों की 55 टुकडिया ओर मांगी है

जाट नेता यशपाल मलिक उत्तर प्रदेश चुनाव में बीजेपी का खुलकर विरोध कर रहे है और उनपर कौम के साथ धोखाधड़ी करने का आरोप लगा रहे है और हरियाणा सरकार के कई मंत्री उनको बाहरी बोलकर हरियाणा में माहौल ख़राब करने का आरोप लगा रहे है अब देखना ये है कि सरकार इस मामले में क्या कदम उठाती है ।

Updated: February 16, 2017 — 7:55 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

SSC Max © 2017